दंतेवाड़ा जिले में ग्रामीणों ने घेरा पुलिस कैंप, फोर्स ने छोड़ी आंसू गैस, हवाई फायर हुए

दंतेवाड़ा जिले में ग्रामीणों ने तीर-धनुष लेकर घेरा पुलिस कैंप, फोर्स ने छोड़ी आंसू गैस। छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिला मुख्यालय से करीब 80 किलोमीटर दूर कुआकोंडा ब्लॉक के ग्राम पोटाली में सोमवार को शुरू हुए पुलिस कैंप के विरोध में मंगलवार को ग्रामीण खुलकर सामने आ गए।

दंतेवाड़ा जिले में ग्रामीणों ने घेरा पुलिस कैंप, फोर्स ने छोड़ी आंसू गैस, हवाई फायर हुए

दंतेवाड़ा एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव ने ग्रामीणों को नक्सलियों के बहकावे में नहीं आने की अपील की है।
दंतेवाड़ा। दंतेवाड़ा जिले में ग्रामीणों ने तीर-धनुष लेकर घेरा पुलिस कैंप, फोर्स ने छोड़ी आंसू गैस। छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिला मुख्यालय से करीब 80 किलोमीटर दूर कुआकोंडा ब्लॉक के ग्राम पोटाली में सोमवार को शुरू हुए पुलिस कैंप के विरोध में मंगलवार को ग्रामीण खुलकर सामने आ गए। सूचना मिलने पर पहुंची फोर्स ने अश्रु गैस के गोले छोड़े। हवाई फायर किए, समझाया। तब कहीं ग्रामीण लौटे। पोटाली कैंप का ग्रामीण शुरू से विरोध कर रहे हैं। इस मामले में कोई खुलकर वजह बताने को तैयार नहीं है, लेकिन कहा जाता है कि ग्रामीण नहीं चाहते कि फोर्स उनके गांव के पास रहे। सुबह कलेक्टर-एसपी समेत अन्य आला अधिकारी ग्रामीणों से मुलाकात कर लौटे थे। दोपहर में पारंपरिक हथियारों तीर-धनुष, टंगिया, लाठी से लैस ग्रामीणों ने कैंप को घेरकर विरोध करने लगे।
सोमवार को कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा, एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव समेत अन्य अधिकारी पोटाली पहुंचे थे और कैंप का औपचारिक शुभारंभ किया था। मंगलवार को सुबह भी अधिकारी पहुंचे थे और ग्रामीणों से बातचीत कर लौट आए थे। उसके बाद यह घटनाक्रम चला। फोर्स पर ज्यादती करने के आरोप भी ग्रामीण लगाते रहे हैं। वहीं दूसरी ओर यह भी कहा जाता है कि नक्सली नहीं चाहते कि वहां कैंप खुले, क्योंकि ऐसा होने से पुलिस, फोर्स और प्रशासन की दखल क्षेत्र में बढ़ जाएगी, जो उनके हित में नहीं होगी।