सत्ता में आने से पहले डीटीसी के पास जितनी बसें थीं वो अब घट क्यों गई हैं: मनोज तिवारी

सत्ता में आई तो 2 साल में प्रदूषण की समस्या करेंगे खत्म। दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने आप सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि आप सरकार के सत्ता में आने से पहले डीटीसी के पास जितनी बसें थीं वो अब घट गई हैं.

सत्ता में आने से पहले डीटीसी के पास जितनी बसें थीं वो अब घट क्यों गई हैं: मनोज तिवारी

नई दिल्ली। सत्ता में आई तो 2 साल में प्रदूषण की समस्या करेंगे खत्म। दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने आप सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि आप सरकार के सत्ता में आने से पहले डीटीसी के पास जितनी बसें थीं वो अब घट गई हैं. बीजेपी नेता ने दिल्ली की आप सरकार पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि साल 2015 में दिल्ली में दिल्ली ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन (डीटीसी) के पास 8 हजार बसें थी जो अब घटकर 3700 हो गई है. उन्होंने अरविंद केजरीवाल सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि चुनाव में आप ने अधिक बसें दिल्ली में लाने का वादा किया था लेकिन इसके विपरीत बसों की संख्या घट गईं. दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा है कि अगर राष्ट्रीय राजधानी में बीजेपी की सरकार बनती है तो 2 साल के अंदर यहां से प्रदूषण की समस्या खत्म कर दी जाएगी.
मनोज तिवारी ने कहा कि बीजेपी कई ऐसी कंपनियों के संपर्क में है जो यहां इलेक्ट्रिक बसें चलाने में रूची रखती हैं. उन्होंने कहा कि दिल्ली की जरूरतें पूरी करने के लिए 12 हजार ऐसी बसों की जरूरत है. गौरतलब है कि दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ये दावा करती है कि उसने यहां से प्रदूषण की समस्या को 25 फीसदी तक कम कर दिया है. हालांकि, आप सरकार के इस दावे को ग्रीनपीस इंडिया ने हाल ही में खारिज कर दिया था. इस एनजीओ ने कहा था कि आप सरकार के इस दावे में सच्चाई नहीं दिखती है. बता दें कि दिल्ली में अगले साल फरवरी के महीने में विधानसभा के चुनाव होने हैं. चुनाव से पहले दलों ने चुनावी तैयारी शुरू कर दी है. दिल्ली में विधानसभा की 70 सीटें हैं. पिछले विधानसभा चुनाव में आप सरकार को यहां बंपर जीत मिली थी. पार्टी 70 में 67 सीटें जीतने में कामयाब रही थी जबकि बीजेपी को सिर्फ तीन सीटें मिली थीं. कांग्रेस का खाता भी नहीं खुला था. बीजेपी नेता ने साथ ही कहा कि संसद के आनेवाले मानसून सेशन में अनओथराइज्ड कॉलनी को रेगुलराइज करने के लिए कानून पास किया जाएगा.